सेंट लूसिया: भारतीय महिला टीम ने वेस्टइंडीज दौरे पर शानदार प्रदर्शन जारी रखते दूसरे टी20 मैच में रिकॉर्ड अंतर से जीत दर्ज की. भारतीय महिलाओं ने मेजबान टीम को 10 विकेट से करारी शिकस्त दी. भारत ने इस अंतर से वेस्टइंडीज को पहली बार हराया है. इस जीत के साथ ही भारत ने पांच मैचों की सीरीज में 2-0 की बढ़त बना ली है. बेहतरीन गेंदबाजी करते हुए चार विकेट लेने के लिए दीप्ति शर्मा (Deepti Sharma) ‘प्लेयर ऑफ द मैच’ चुनी गईं. शेफाली वर्मा (Shafali Verma) ने 69 रन की पारी खेली. 

वेस्टइंडीज की टीम ने पहले बल्लेबाजी करते हुए निर्धारित 20 ओवर में सात विकेट पर 103 रन बनाए. भारत ने लक्ष्य को 11वें ओवर में ही हासिल कर लिया. टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करने उतरी कैरेबियाई टीम की शुरुआत खराब रही. उसने महज 15 के स्कोर पर ही दो विकेट गंवा दिए. हेली मैथ्यूज और नेशन ने तीसरे विकेट के लिए 34 रन की साझेदारी कर टीम को संभालने का प्रयास किया. 49 के कुल योग पर मैथ्यूज (23) का विकेट गिरा. 

इसके बाद, नेशन (32) ने नताशा मैकलीन (17) के साथ 32 रन जोड़े. हालांकि, दीप्ति ने शानदार गेंदबाजी करते हुए मेजबान टीम के उपर शिकंजा कसा और लगातार विकेट हासिल किए. इसके कारण वेस्टइंडीज की टीम 103 का स्कोर ही बना पाई. नाइट आठ और आलिया एलिनी एक रन बनाकर नाबाद रहीं. भारत के लिए दीप्ति ने सबसे ज्यादा चार विकेट लिए जबकि राधा यादव, पूजा और शिखा पांडे को एक-एक विकेट मिला.
लक्ष्य का पीछा करने उतरी भारतीय टीम को शेफाली वर्मा और स्मृति मंधाना (Smriti Mandhana) ने बेहतरीन शुरुआत दिलाई. शेफाली वर्मा ने तेज बल्लेबाजी की और केवल 26 गेंद में ही अपना अर्धशतक पूरा कर लिया. वर्मा को मंधाना का अच्छा साथ मिला जिन्होंने नाबाद रहते हुए भारत को जीत दिलाई. मंधाना ने 28 गेंद में चार चौकों की मदद से नाबाद 30 रन बनाए. 
शेफाली वर्मा ने 35 गेंद में नाबाद 69 रन की पारी खेली. इसके साथ ही उन्होंने सचिन तेंदुलकर का बरसों पुराना रिकॉर्ड तोड़ दिया. शेफाली अब इंटरनेशनल मैचों में सबसे कम उम्र में फिफ्टी लगाने वाली भारतीय क्रिकेटर बन गई हैं. इनमें पुरुष और महिला क्रिकेटर दोनों शामिल हैं. शेफाली से पहले यह रिकॉर्ड सचिन तेंदुलकर के नाम था. शेफाली ने यह मुकाम 15 साल 285 दिन की उम्र में हासिल किया है. सचिन ने 16 साल 214 की उम्र में भारत के लिए पहली फिफ्टी लगाई थी.