नई दिल्ली । गलवान घाटी में भारतीय सैनिकों पर बर्बरता चीन को बहुत महंगी पडऩे वाली है। बॉयकाट चाइना मुहिम अब अपने रंग में आ रही है। देश के बड़े-बड़े बिजनेसमैन भी इस मुहिम में शामिल होने लगे हैं। विभिन्न क्षेत्रों में कारोबार करने वाली कंपनी जेएसडब्लू ग्रुप ने सीमा पर जारी तनाव के बीच चीन से 40 करोड़ डॉलर (करीब 3000 करोड़) के आयात को अगले 24 महीने में शून्य पर लाने का फैसला किया है। ग्रुप के की सहयोगी इकाई जेएसडब्लू सीमेंट के मैनेजिंग डायरेक्टर पार्थ जिंदल ने कहा कि उन्होंने गलवान घाटी में भारत और चीन के सैनिकों के बीच हुए हालिया टकराव के कारण यह फैसला लिया है। 14 अरब डॉलर की कंपनी ग्रुप का स्वामित्व पार्थ के पिता सज्जन जिंदल के पास है। यह ग्रुप इस्पात, ऊर्जा, सीमेंट और बुनियादी संरचना जैसे मुख्य क्षेत्रों में कारोबार करती है। ग्रुप चीन से सालाना 40 करोड़ डॉलर का आयात करता है। अब इसे बंद करने का फैसला किया गया है।