लाहौर । पाकिस्तान के पूर्व स्पिनर दानिश कनेरिया ने कहा है कि टीम के पूर्व कप्तान शाहिद अफरीदी के कारण ही उनका करियर खराब हुआ था। कनेरिया ने अफरीदी पर भेदभाव का  आरोप लगाते हुए कहा कि इस खिलाड़ी के कारण ही उन्हें सीमित ओवरों के प्रारुप में ज्यादा अवसर नहीं मिले। कनेरिया को साल 2000 से 2010 के बीच सिर्फ 18 एकदिवसीय मैच खेलने का मौका मिला। कनेरिया ने कहा कि उनके लिए अफरीदी के इस भेदभावपूर्ण व्यवहार के पीछे के कारण के बारे में सोचना कठिन था। कनेरिया ने कहा कि अगर अफरीदी नहीं होते तो वह 18 से कहीं ज्यादा एकदिवसीय मैच खेले होते। उन्होंने कहा, ‘‘मैं उनकी वजह से अधिक एकदिवसीय नहीं खेल सका और उन्होंने मेरे साथ गलत व्यवहार किया। जब हम घरेलू क्रिकेट में खेलते थे तब वह कप्तान थे। वह मुझे हमेशा टीम से बाहर रखते थे और एकदिवसीय टीम में भी हमेशा मेरे साथ ऐसा ही करते थे। वह बेवजह मुझे टीम से बाहर रखते थे।’’ कनेरिया लंबे समय तक टीम का हिस्सा रहे लेकिन उन्हें अंतिम 11 में कम मौका मिला। उन्होंने कहा, ‘‘ अफरीदी दूसरों का समर्थन करते थे लेकिन मेरा नहीं। भगवान का शुक्र है कि इसके बाद भी मुझे पाकिस्तान के लिए खेलने का मौका मिला। इसके लिए मुझे खुद पर गर्व है।’’ उन्होंने अफरीदी पर आरोप लगते हुए कहा कि इसका एक और कारण यह था, ‘‘मै लेग स्पिनर था और वह भी लेग स्पिनर थे। वह वैसे भी बड़े खिलाड़ी थे और पाकिस्तान के लिए लगातार खेल रहे थे। फिर भी उनका मेरे साथ ऐसा व्यवहार मेरी समझ से परे था।’’