विकास के एजेंडे पर दिल्ली चुनाव में उतरे आम आदमी पार्टी संयोजक अरविंद केजरीवाल ने हैट्रिक लगाई है। आप की आंधी में भाजपा औंधे मुंह गिर गई। जबकि कांग्रेस का लगातार दूसरी बार सूपड़ा साफ हो गया।अरविंद केजरीवाल का जादू एक बार फिर दिल्लीवालों के सर चढ़कर बोला। 70 में से 62 सीटों पर जीत दर्ज कर पार्टी लगातार तीसरी बार सरकार बनाने जा रही है।
 दिल्ली विधानसभा चुनाव में भारी जीत के बाद अरविंद केजरीवाल ने रिटर्निंग ऑफिसर से जीत का प्रमाणपत्र प्राप्त किया।
 'शून्य' हुई कांग्रेस, दिल्ली प्रदेश अध्यक्ष ने दिया इस्तीफा

दिल्ली विधानसभा चुनाव में कांग्रेस की बुरीगत '00' की जिम्मेदारी लेते हुए सुभाष चोपड़ा ने दिल्ली प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष पद से इस्तीफा दे दिया है। दिल्ली विधानसभा चुनाव में जबरदस्त जीत हासिल करने के बाद अरविंद केजरीवाल को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बधाई दी है। जवाब में केजरीवाल ने भी उन्हें शुक्रिया कहते हुए दिल्ली को वर्ल्ड क्लास सिटी बनाने के लिए उनसे सहयोग की उम्मीद जताई। केजरीवाल ने ट्वीट किया, 'बहुत-बहुत धन्यवाद सर। हमारे कैपिटल सिटी को वर्ल्ड क्लास सिटी बनाने के लिए मैं केंद्र के साथ मिलकर काम करने की उम्मीद करता हूं।' चुनाव आयोग के ताजा आंकड़ों के मुताबिक दिल्ली विधानसभा चुनाव में आम आदमी पार्टी ने जीत का अर्धशतक लगा दिया है। चुनाव आयोग के मुताबिक आप अब तक 50 सीटों पर जीत हासिल कर चुकी है, जबकि अन्य 13 सीटों पर बढ़त बनाए हुए है। भाजपा महज छह सीटों पर जीत हासिल कर पाई है। कुछ सीटों पर मतगणना जारी है।   दिल्ली विधानसभा चुनाव में मालवीय नगर सीट से आप उम्मीदवार सोमनाथ भारती 18,144 और मुस्तफाबाद सीट से हाजी यूनुस 20,704 मतों के अंतर से जीते।  दिल्ली विधानसभा चुनाव में जीत पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आम आदमी पार्टी और अरविंद केजरीवाल को बधाई दी। पीएम मोदी ने ट्वीट कर कहा कि दिल्ली के लोगों की आकांक्षाओं को पूरा करने के लिए उन्हें शुभकामनाएं।कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने दिल्ली विधानसभा चुनाव में आम आदमी पार्टी (आप) की जीत पर मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को बधाई दी है। राहुल ने ट्वीट कर कहा, ‘केजरीवाल और आप को दिल्ली विधानसभा चुनाव जीतने पर बधाई और मेरी शुभकामनाएं।’ दिल्ली में बिजली, पानी, शिक्षा और विकास को अपना चुनावी मुद्दा बनाने वाली आम आदमी पार्टी मंगलवार सुबह से चल रही मतगणना के रुझानों में बेहद मजबूत स्थिति में दिखाई दे रही है और इसके लगातार तीसरी बार सत्ता में आने के संकेत हैं। वहीं, इस चुनाव में आप की मुख्य प्रतिद्वंद्वी भाजपा दूसरे नंबर पर है और कांग्रेस का दूर-दूर तक कोई नामो-निशान नहीं है।