सुकमा. छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh) के सीमावर्ती जिले ओडिशा (Odisha) के मलकानगिरी पुलिस (Police) ने एक नक्सली (Naxalite) के सरेंडर करने का दावा किया है. पुलिस का दावा है कि सरेंडर करने वाले नक्सली अरसा हबिका पर 4 लाख रुपये का इनाम घोषित था. इतना ही नहीं सरेंडर करने वाला नक्स्ली आरकू विधायक केएस राव की हत्या में भी शामिल बताया जा रहा है. केएस राव की हत्या 24 सितंबर 2008 को नक्सलियों ने की थी. उनके साथ एक पूर्व विधायक को भी नक्सलियों ने मौत के घाट उतार दिया था.

ओडिशा के मलाकनगिरी एसपी ऋिकेश खल्लारी के समक्ष एसीएम रैंक का नक्सली अरसा हबिका ने सरेंडर किया है. पुलिस के मुताबिक अरसा साल 2012 से नक्सल संगठन से जुड़ा था. उसने छत्तीसगढ़ और ओडिशा में कई नक्सल वारदातों को अंजाम दिया. पुलिस पार्टी पर फायरिंग, विधायक के अलावा अलग अलग गांवों में सरपंच की हत्या. सुकमा में इन्द्रवाति नदी के पास पुलिस पार्टी पर हमले में भी ये शामिल था. ये मूलतः खमागुड़ा कोरापुट जिले का रहने वाला बताया जा रहा है. इसे इनाम की राशि के अलावा शासन की योजना का लाभ भी अब दिया जाएगा.

दंतेवाड़ा में एक गिरफ्तार


बता दें कि छत्तीसगढ़ के बस्तर संभाग के दंतेवाड़ा जिले में भी नक्सलियों के खिलाफ पुलिस को सफलता मिली. बीते 12 फरवरी को नक्सलियों ने 1 लाख रुपये के इनामी जनमिलिशिया कमांडर रामकुमार मरकाम को गिरफ्तार करने का दावा किया है. पुलिस के मुताबिक दुवालीकरका से घेरेबन्दी कर आरोपी नक्सली को गिरफ्तार किया गया है. पंच प्रत्यासी लक्ष्मण, बुधराम पोडियामी, लोकेश करटामी की हत्या में आरोपी के शामिल होने की जानकारी पुलिस ने दी है. कुआकोंडा थाना क्षेत्र में आरोपी को गिरफ्तार किया गया है.