ग्वालियर। डबरा में समोसा बेचता था। टॉम नाम से फेसबुक आईडी बनाई और महिला आरक्षक को फ्रेंड रिक्वेस्ट भेजी। रिक्वेस्ट एक्सेप्ट होते ही अश्लील चैट करने लगा। इतना ही नहीं महिला आरक्षक ने ब्लॉक किया तो दूसरी फेक आईडी बनाकर अश्लील वीडियो भेजे। इतना ही नहीं बदनाम करने की धमकी भी दी। पीड़िता ने दिसंबर 2019 में सायबर सेल में शिकायत की। जिस पर आरोपित की तलाश शुरू की। शुक्रवार शाम पिछोर से आरोपित को गिरफ्तार किया गया है। ग्वालियर निवासी एक 25 वर्षीय युवती आरक्षक है। अभी वह गुना जिले के एक थाने में पदस्थ है।

जानकारी के मुताबिक कुछ समय पहले महिला आरक्षक को फेसबुक पर एक टॉम नाम से फ्रेंड रिक्वेस्ट आई थी। जिसे उसने स्वीकार कर लिया। जब दोस्ती गहरी हो गई तो अश्लील चेट पर उतर आया। इस पर आरक्षक को बुरा लगा तो उसने टॉम को अनफ्रेंड कर दिया। इसके बाद उसने नए नाम से आईडी बनाकर फिर अश्लील वीडियो भेजने शुरू कर दिए। साथ ही महिला आरक्षक को धमकाना शुरू कर दिया कि वह उसे बदनाम कर देगा। इस पर महिला आरक्षक ने मामले की शिकायत दिसंबर 2019 में राज्य सायबर सेल में की थी।

जिस पर थाना प्रभारी राज्य सायबर सेल मुकेश नारौलिया ने जांच शुरू की। पुलिस की टीम ने अपने स्तर पर जांच की तो जिस नंबर से मोबाइल में इंटरनेट चल रहा था वह डबरा-पिछोर के बीच में लोकेशन आ रही थी। शुक्रवार को पुलिस ने आरोपित कृष्णलाल पुत्र अशोक बाथम निवासी पिछोर को गिरफ्तार कर लिया। आरोपित के मोबाइल को जब्त किया गया तो उसमें सारे सबूत मिल गए।