जेरुसलेम । पुरातत्व वैज्ञानिकों ने इज़राइल में अब से 1500 साल पहले बनी हुई एक शराब की फैक्ट्री ढूंढ निकाली है। बताया जा रहा है कि ये बीजान्टिन काल  की सबसे पुरानी शराब फैक्ट्री है। इज़राइल  के यवने इलाके  में खुदाई के दौरान ये फैक्ट्री मिली है। पुरातत्व विभाग के मुताबिक यहां हर साल 2 मिलियन यानि करीब 20 लाख लीटर शराब का उत्पादन होता था।
आज भी कई विकसित देशों में सालाना 80 लाख लीटर शराब तैयार हो पाती है, लेकिन अब से 100 सदी पहले भी 20 लाख लीटर शराब तैयार करने की क्षमता इस फैक्ट्री थी। रिपोर्ट के मुताबिक इज़रायल के यवने शहर में विस्तारीकरण के काम के दौरान ही खुदाई में ये भट्ठी मिली है। 2 साल के अंदर यहां इज़राइल का भूमि प्राधिकरण 75 हज़ार वर्ग फीट की खुदाई कर चुका है। इस दौरान पुरातत्ववेत्ताओं को यहां दुनिया की सबसे प्राचीन मानी जा रही शराब की भट्ठी मिली है। फैक्ट्री में 5 बड़े वाइन प्रेस, वाइन मार्केटिंग के गोदाम और भट्टियां मिली हैं। खुदाई में वे मिट्टी के बर्तन भी मिले हैं, जिनमें भट्ठी में शराब पकाई जाती थी। ये फैक्ट्री काफी सुनियोजित तरीके से बनाई गई है। माना जा रहा है कि यहां से शराब का निर्यात भी किया जाता था। इज़राइल में मिली शराब की फैक्ट्री 2421 वर्गफीट में फैली हुई है। इतना बड़ा एरिया 5 गोदामों से सटा हुआ है। देखने में ये पूरा इंडस्ट्रियल एरिया लगता है। यहां शराब को मुख्य रूप से अंगूरों से तैयार किया जाता था। नंगे पैरों से इन्हें कुचलने के बाद इसे प्रोसेस किया जाता है।
 इसके लिए दो बड़े-बड़े अष्टकोणीय टैंक बने हैं। शराब को रखने के लिए गोदाम में लंबे सुराही सरीखे बर्तन थे, जिन्हें गाज़ा जार कहा जाता था। अब भी खुदाई में कई जार सुरक्षित मिले हैं, जबकि ज्यादातर टूट चुके हैं। माना जाता है कि इन जार में रखी गई शराब प्रीमियम क्वॉलिटी की होती थी। बता दें ‎कि शराब का शौक इंसान को आज से नहीं, बल्कि सदियों से रहा है। अब इस बात की तस्दीक इजराइल के पुरातत्व वैज्ञानिकों ने भी सबूत के साथ कर दी है।