जयपुर । उपभोक्ता मामले विभाग के निर्देशानुसार पेट्रोल और डीजल पंपो पर नाप तौल के संबंध में सघन जांच अभियान लगातार तीसरे दिन भी जारी रहा।  विधिक माप विज्ञान अधिकारियों द्वारा निरीक्षण के तहत पेट्रोल और डीजल की डिलीवरी की माप की जांच (क्वांटिटी टैस्ट) विभाग के स्टेंडर्ड माप से की गयी। 
अभियान के दौरान राजस्थान के विभिन्न जिलों में 46 पेट्रोल एवं डीजल पंपो के निरीक्षण में 359 नोजलों की जांच किये जाने पर 9 पम्पों के विरूद्ध प्रकरण दर्ज किये गए। संबंंधित पम्पों के विरूद्ध विधिक मापविज्ञान अधिनियम,2009 और राजस्थान विधिक मापविज्ञान(प्रवर्तन) अधिनियम 2011 के अन्तर्गत प्रकरण दर्ज करते हुए कार्यवाही की जा रही है। अभियान लगातार जारी रहेगा। जयपुर शहर में कालरा इलेक्ट्रोकॉम प्राइवेट लिमिटेड, सरदार पटेल मार्ग,गवर्नमेंट प्रेस के सामने स्थित कम्प्यूटर का व्यापार करने वाली फार्म द्वारा एपसोन कम्पनी के प्रिंटर को निर्धारित एमआरपी रूपये 18200 के स्थान पर रूपये 21000 में बेचे जाने की शिकायत कंज्यूमर एक्शन नेटवर्क सोसाइटीद्वारा की गई। इस परउप नियंत्रक,विधिक माप विज्ञान, जयपुर द्वारा जांच की गई। जांच में शिकायत की पुष्टि होने पर जाने पर फर्म के विरूद्ध विधिक मापविज्ञान(पैकेज में रखी वस्तु) नियम 2011 के नियम 18(2) प्रकरण दर्ज किया गया है। फर्म के विरूद्ध नियमानुसार की जायेगी ।