जयपुर । राजस्थान के राज्यपाल एवं कुलाधिपति कलराज मिश्र प्रदेश के राज्य वित्त पोषित विश्वविद्यालयों मेें से उत्कृष्ट विश्वविद्यालय को चांसलर मैडल और प्रशस्ति पत्र प्रदान करेंगे। राज्य में इस तरह का यह पहला प्रयास है। राज्यपाल मिश्र ने कहा है कि इससे विश्वविद्यालयों में शिक्षा का नया माहौल बनेगा और स्वस्थ प्रतिस्पधर होगी। इससे राज्य के युवा वर्ग को लाभ मिलेगा और विश्वविद्यालयों का बेहतर तरीके से विकास होगा। 
राज्यपाल कलराज मिश्र के निर्देश पर राज्यपाल के सचिव सुबीर कुमार ने इस संदर्भ में राज्य के सभी राज्यवित्त पोषित विश्वविद्यालयों को पत्र भेजे हैं। राज्यपाल ने सर्वश्रेष्ठ विश्वविद्यालय को प्रशस्ति पत्र और चांसलर मैडल देने की घोषणा गत 4 नवम्बर को हुई कुलपति समन्वय समिति की बैठक में की थी। इस सम्बन्ध में विश्वविद्यालयों को राजभवन से जारी किये गये निर्धारित प्रपत्र में  20 अक्टूबर तक आवेदन करना होगा।  कुलाधिपति मिश्र ने इस प्रपत्र में गवर्नेन्स, वित्तिय स्थिति, चांसलर इनिशिएटिव्स, शिक्षा, शोध, विद्यार्थी विकास, नवाचार और अन्य गतिविधियों की जानकारी मांगी है। गतिविधियों के लिए सम्बन्धित विश्वविद्यालयों के कुलपति सैल्फ एसेसमेन्ट कर अंक देगें। पारदर्शिता के लिए इस प्रपत्र को भरकर विश्वविद्यालय अपनी वेबसाइट पर भी प्रदर्शित करेगे। इसमें विश्वविद्यालय 30 सितम्बर तक की उपलब्धियों को समावेशित कर सकेगे। राज्य में विश्वविद्यालयों में स्वस्थ प्रतिस्पर्धा विकसित करने के लिए यह पहला प्रयास है। राज्यपाल कलराज मिश्र उच्च शिक्षा के विकास के लिए बेहद चिन्तित है।