नई दिल्ली । सुप्रीम कोर्ट में अर्जी दाखिल कर गुहार लगाई गई है, कि पीएम केयर फंड का कोरोना वैक्सीन से लेकर अस्पतालों में ऑक्सिजन प्लांट लगाने के लिए इस्तेमाल करे। अदालत से गुहार लगाई गई है कि प्रत्येक जिला अस्पतालों में वैक्सीजन की व्यसव्था लेकर ऑक्सिजन प्लांटस, जेनरेटर आदि लगाने के लिए पीएम केयर फंड का इस्तेमाल करें, ताकि लोगों को आसानी से मुफ्त इलाज मिल सके। याचिका में कहा गया है कि देश भर के 738 जिला अस्पतालों में ऑक्सिजन व वैक्सीन आदि की व्यवस्था के लिए पीएम केयर फंड का इस्तेमाल हो ताकि आम आदमी जो वहां इलाज के लिए जाते हैं उन्हें परेशानी न हो और उनका बिना खर्च के इलाज हो सके।
अदालत से गुहार लगाई गई है कि सुप्रीम कोर्ट केंद्र सरकार के सेक्रेटरी और राज्यों के चीफ सेक्रेटरी को निर्देश दें कि वह इलाके से सांसदों और विधायकों से कहें कि वह सांसद फंड और एमएलए फंड का उचित तरीके से इस्तेमाल करें और इसके लिए पूरी तरह से पारदर्शिता रखी जाए और लोगों की सेवा की जाए। साथ ही देश भर के हाईकोर्ट को निर्देश जारी किया जाए कि वह निचली अदालत के जजों को निर्देश जारी करें कि सुप्रीम कोर्ट के आदेश पर अमल सुनिश्चित करें। अदालत में दाखिल अर्जी में कहा गया है कि सुप्रीम कोर्ट राज्यों को निर्देश जारी करे कि वह प्राइवेट और चेरिटेबल अस्पतालों में सारी सुविधाएं सुनिश्चित कराएं। प्राइवेट और चेरिटेबल अस्पतालों में मेडिकल प्लांट से लेकर तमाम जरूरी बैकअप और सुविधाएं इन हाउस सुनिश्चित कराया जाए। साथ ही राज्यों को निर्देश दिया जाए कि प्रत्येक शहरों में इलेक्ट्रिक शवदाह गृह बनाए जाएं।