भीलवाड़ा. कोरोना (COVID-19) काल के अनलॉक-1 में शादी समारोह (Wedding ceremony) के लिए दी गई छूट का बेजा फायदा उठा रहे लोगों पर नकेल कसने के लिए अब जिला प्रशासन सख्त हो गया है. यहां पिछले दिनों एक शादी में भीड़ जुटने के बाद समारोह में शामिल हुए लोगों में से 16 के कोरोना पॉजिटिव पाये जाने और एक व्यक्ति की मौत हो जाने से प्रशासन अब जबर्दस्त तरीके से सतर्क हो गया है. पहले तो प्रशासन ने इस शादी के आयोजकों पर 6,26,600 रुपये का जुर्माना लगाया था. उसके बाद अब यहां शादी समारोह पुलिस की मौजूदगी (Police presence) में हो रहे हैं. यहां तक कि मंडप में संबंधित इलाके के थानेदार को वहां बैठकर निगरानी करनी पड़ रही है कि कोरोना गाइडलाइन की पालना हो रही है या नहीं.

इलाके के थानाधिकारी कर रहे निगरानी
इसकी बानगी में शहर में हाल ही में हुई शादी में देखने को मिली. भीलवाड़ा शहर के कांची रिसोर्ट में शैलेंद्र चौधरी के पुत्र हर्षित की शादी में ऐसा ही नजारा देखने को मिला. इसमें वधू पक्ष ब्यावर से आया था. वर वधू दोनों ओर से कुल 35 परिजन इस शादी में सम्मिलित हुए. दूल्हे और दुल्हन सहित सभी ने मास्क लगा रखे थे. कोरोना गाइडलाइन की पालना करवाने के लिए प्रतापनगर थानाधिकारी भजनलाल खुद मंडप में मौजूद रहे. इस दौरान वहां कोरोना गाइडलाइन की पालना सख्ती से करवाई गई.

सबकुछ पुलिस की मौजूदगी में
उसके बाद अब भीलवाड़ा प्रशासन ने शादियों के मामले में सख्ती बरतनी शुरू कर दी है. अब भीलवाड़ा शहर में शादियां पुलिस-प्रशासन की निगरानी में हो रही है. कोरोना प्रोटोकॉल की सख्ती से पालना करवाई जा रही है. शादी में पुलिस की सख्त पहरेदारी भी नजर आने लगी है. यहां तक की मंडप में दूल्हे दुल्हन के फेरों के समय भी संबंधित थाने के थानाधिकारी मौजूद रहते हैं और यह देखते हैं कि वहां उपस्थित लोगों की संख्या 50 से कम हो. सभी ने मास्क ने लगा रखा या नहीं. सेनेटाइजर का उपयोग और सोशल डिस्टेंसिंग की पालना की जा रही है या नहीं.