नई ‎दिल्ली । कोरोना वायरस के संक्रमण के बावजूद भारतीय फैशन जूलरी एंड एसेसरीज शो अपनी चमक बिखेरेगा। सुबह 11 बजे से रात 9 बजे तक यह शो चलेगा। हालांकि इसका स्वरूप बदला गया है। यह एक से चार जून तक वर्चुअल तरीके से होगा। इसमें उत्पाद भी ऑनलाइन होंगे और खरीदार भी। यहां तक कि फैशन शो से लेकर सेमिनार तक ऑनलाइन होंगी। आयोजकों ने कहा कि इस तरह का शो देश में पहली बार इस तरह होने जा रहा है। अब से पहले इस शो में देश-विदेश के हजारों बायर्स और निर्यातक ग्रेटर नोएडा में जुटते थे। एक्सपोर्ट प्रमोशन काउंसिल फॉर हैडीक्राफ्ट (ईपीसीएच) के अध्यक्ष रवि के. ने बताया कि फेयर के लिए एक वेबसाइट डिजाइन की गई है। इसमें इंडिया एक्स्पो सेंटर एंड मार्ट के हॉल की तरह ही हस्तशिल्प के स्टॉल लगे दिखेंगे। उत्पादों के फोटो व विडियो देखकर विदेशी खरीदार संबंधित निर्यातक से बात कर ऑर्डर दे सकेंगे।
ईपीसीएच के महानिदेशक राकेश कुमार ने बताया कि कोरोना ने ग्लोबल सप्लाई चेन्स और अंतरराष्ट्रीय व्यापार को बाधित कर दिया है। दुनिया भर में प्रदर्शनियों को रद्द किया है। लिहाजा देश में पहली बार ये विकल्प अपनाया गया है। पहले ये शो 15 से 19 अप्रैल तक होना था, लेकिन लॉकडाउन के कारण स्थगित करना पड़ा। फेयर में भारतीय फैशन ज्वैलरी एंड एक्सेसरीज के 200 से अधिक निर्यातक अपने उत्पादों दिखाएंगे। इस समय 70 प्रतिशत तक निर्यात कोरोना के कारण प्रभावित है। फिर भी देश में ये फेयर लगाया जा रहा है क्योंकि जब हम बेचेंगे तभी कोई खरीदेगा।