नई दिल्ली । यहां 18-29 मार्च के बीच होने वाले आईएसएसएफ विश्व कप निशानेबाजी में भाग लेने आये इंग्लैंड के निशानेबाजों को कोरोना महामारी को देखते हुए सात दिन तक पृथकवास में रहना पड़ेगा।  
भारतीय राष्ट्रीय राइफल संघ (एनआरएआई) के अनुसार इंग्लैंड से आने वाले निशानेबाजों के लिए सात दिन के कड़े पृथकवास को लेकर महासंघ को सकारात्मक जवाब मिला है।
गौरतलब है कि कोरोना वायरस के संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए सरकार ने विदेशों से आने वाले यात्रियों के लिए हाल में ताजा निशानिर्देश जारी किए। इसमें विशेष रूप से इंग्लैंड, ब्राजील और दक्षिण अफ्रीका से आने वाले यात्रियों पर विशेष ध्यान देने को कहा गया है जहां वायरस का अधिक गंभीर प्रकार सामने आया है।
सरकार ने अपने नवीनतम दिशानिर्देश में कहा है कि आगमन पर कोविड-19 नेगेटिव आने के बाद इन अंतरराष्ट्रीय यात्रियों को सात दिन के कड़े पृथकवास से गुजरना होगा।
इससे पहले भारत दौरे पर आई इंग्लैंड की क्रिकेट टीम को भी सात दिन के पृथकवास से गुजरना पड़ा था। उसी को देखते हुए निशाने बाजों को भी 14 की जगह 7 दिनों के पृथकवास की अनुमति दि गयी है। 
राइफल, पिस्टल और शॉटगन निशानेबाजों के संयुक्त विश्व कप का आयोजन डॉ. कर्णी सिंह निशानेबाजी रेंज में आयोजित किया जाएगा। अब तक 40 से अधिक देशों ने अंतरराष्ट्रीय निशानेबाजी खेल महासंघ (आईएसएसएफ) के इस टूर्नामेंट में हिस्सा लेने की पुष्टि की है।