मध्यप्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ की मौजूदगी में शुक्रवार को भोपाल में भारतीय जनता पाटीर् की पूर्व विधायक पारुल साहू कांग्रेस में शामिल हो गईं। साहू सागर जिले के सुरखी विधानसभा क्षेत्र से विधायक रह चुकी हैं और माना जा रहा है कि वे सुरखी विधानसभा उपचुनाव में राज्य के परिवहन मंत्री एवं भाजपा नेता गोविंद राजपूत को कांग्रेस प्रत्याशी के तौर पर चुनौती देंगी।

कमलनाथ ने साहू को विधिवत कांग्रेस की सदस्यता दिलायी और कहा कि उनके परिवार का कांग्रेस से पुराना नाता रहा है और ये सुश्री साहू की घर वापसी है। कमलनाथ ने कहा कि राज्य में सत्तारूढ़ दल भाजपा उपचुनावों को लेकर खोखलीं घोषणाएं कर रही है, लेकिन मतदाता समझदार हैं और वे बहकावें में आने वाले नहीं हैं। इस अवसर पर साहू ने कहा कि उनके क्षेत्र की जनता चाहती है कि वे उनकी आवाज बनें, इसलिए उन्होंने कांग्रेस में शामिल होने का निर्णय लिया है। उन्होंने यह भी कहा कि यह उनकी घर वापसी है। सुश्री पारुल साहू वर्ष 2013 के विधानसभा चुनाव में सुरखी से भाजपा की टिकट पर पहली बार चुनाव जीतकर विधायक बनीं थीं, उस समत उन्होंने कांग्रेस प्रत्याशी के तौर पर गोविंद राजपूत को पराजित किया था। वर्ष 2018 के चुनाव में उन्हें टिकट नहीं मिला और उसके बाद से ही वे संगठन से नाराज बताई जा रहीं थीं।