भोपाल में तेज हवाओं के साथ रुक-रुक कर बारिश; इंदौर में बादल छाए, जबलपुर समेत 9 जिलों में येलो अलर्ट, 3 दिन तक रहेगा असर

भोपाल में दोपहर 2.30 बजे के बाद बादल छाने के साथ तेज हवाओं के साथ बारिश हुई।
अगले 24 घंटों में प्रदेश भर में तेज हवाएं चलने की संभावना

भोपाल समेत मध्य प्रदेश में एक बार फिर मौसम ने करवट ली है। तेज तपिश के बाद शनिवार दोपहर 2 बजे के बाद प्रदेश भर में गर्मी के तेवर कुछ नरम हुए। पश्चिमी विक्षोभ के कारण बादल छाने से लोगों को गर्मी से राहत मिल गई। भोपाल में तो कई इलाकों में रुक-रुक कर बारिश होती रही। वहीं इंदौर में भी बादल छा गए हैं। वरिष्ठ मौसम वैज्ञानिक जेडी मिश्रा के अनुसार अगले 24 घंटे में कई जगह गरज चमक के साथ बारिश हो सकती है। कुछ जगहों पर 30 से लेकर 40 किलोमीटर प्रति घंटा की रफ्तार से हवाएं भी चल सकती हैं।

होशंगाबाद, शहडोल और जबलपुर संभागों के अलावा दमोह, सागर, विदिशा और रायसेन जिले में कहीं-कहीं हल्की बारिश और गरज चमक के साथ बिजली चमकने की संभावना है। यह स्थिति अगले दो-तीन दिन तक इसी तरह बनी रहेगी।

भोपाल में दोपहर 2.30 बजे के बाद अचानक बादल छा गए।

इस कारण बनी है स्थिति

वर्तमान में पश्चिमी चक्रवात ऊपरी क्षोभमंडल की पश्चिम हवाओं के बीच ट्रफ बना हुआ है। वहीं, बिहार-पूर्वी उत्तर प्रदेश, दक्षिणी तमिलनाडु, दक्षिणी मध्य प्रदेश तथा श्रीलंका के आसपास चक्रवातीय हवाएं चल रही हैं, जबकि उत्तर-दक्षिण ट्रफ लाइन विदर्भ-तेलंगाना से होकर कर्नाटक और रायलसीमा-तमिलनाडु तक गुजर रही है। इसी कारण दो से तीन दिन इसी तरह गर्मी से राहत की उम्मीद है।

दो कारणों से बारिश हुई

पहला : पश्चिमी विक्षोभ के कारण साउथ वेस्ट एमपी में ऊपरी चक्रवात का क्षेत्र बनने से बारिश हुई।
दूसरा : नॉर्थ साउथ ट्रफ भी बना हुआ है। साउथ वेस्ट एमपी से मध्य महाराष्ट्र तक चक्रवात का क्षेत्र बना है।

अब आगे

वैज्ञानिक पीके साहा ने बताया कि 13 और 14 को फिर से इसी तरह एक स्केल आ सकता है। यह भोपाल में भी आएगा। यह इंदौर, होशंगाबाद में शिफ्ट करेगा। यह जबलपुर में भी कुछ प्रभाव रहेगा। इंदौर और होशंगाबाद में ज्यादा प्रभाव रहेगा। तीन चार दिन गर्मी से राहत रहने की संभावना है।

बीते चौबीस घंटों में यहां बारिश हुई

शहडोल के बुढ़ार में 12 मिमी, सोहागपुर में 6 मिमी, जैतपुर में 2 मिमी, जबलपुर के सिहोरा में 5.2 मिमी, उमरिया के पाली में 5 मिमी, सिटी में 0.8 मिमी, कटनी के विजयराघवगढ़ में 4.0 मिमी और बरही में 2 मिमी बारिश रिकॉर्ड की गई।