नई दिल्ली । कोरोना की वजह से क्रिकेट पिछले तीन महीनों से थमा हुआ है। लेकिन अब अच्छी खबर ये है कि जुलाई में फैंस इंटरनेशनल मैच का लुत्फ भी उठा सकते है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक वेस्टइंडीज की टीम इंग्लैंड दौरे के लिए तैयार होकर वहां अपनी 25 सदस्यीय टीम तीन मैचों की टेस्ट सीरीज के लिए भेजेगी।इनमें से 15 खिलाड़ी टेस्ट टीम का हिस्सा होंगे, वहीं 10 अन्य खिलाड़ी रिजर्व के तौर पर इंग्लैंड जाएंगे।अगर सबकुछ सही रहा तब कोरोना के बाद पहली इंटरनेशनल क्रिकेट सीरीज वेस्टइंडीज और इंग्लैंड के बीच होगी। वेस्टइंडीज क्रिकेट बोर्ड के चीफ एक्जीक्यूटिव ने जानकारी दी है कि उनकी 25 सदस्यीय टीम खाली स्टेडियम में खेलने के लिये तैयार है। रिपोर्ट के मुताबिक वेस्टइंडीज बोर्ड के चीफ एक्जीक्यूटिव जॉनी ग्रेव ने कहा कि वो इंग्लैंड क्रिकेट बोर्ड के साथ पिछले 6 हफ्तों से सीरीज पर चर्चा कर रहे हैं और अब उन्हें ईसीबी के औपचारिक न्यौते का इंतजार है।
रिपोर्ट्स के मुताबिक अगले महीने जून में वेस्टइंडीज की टीम इंग्लैंड के दौरे पर टेस्ट सीरीज खेलने आ सकती है।इंग्लैंड रवाना होने से पहले वेस्टइंडीज के खिलाड़ियों का कोरोना टेस्ट होगा, तभी वहां दौरे पर जा सकते है। इसके बाद वहां इंग्लैंड में क्वारंटीन रहना होगा और जुलाई में टेस्ट सीरीज का आयोजन होगा। सबकुछ सही रहा,तब 8 जुलाई से टेस्ट सीरीज का आगाज होगा और 16 जुलाई को दूसरा टेस्ट खेला जाएगा। टेस्ट सीरीज का आखिरी मैच 28 जुलाई को होगा। बता दें ये दौरा 4 जून से शुरू होना था लेकिन कोरोना वायरस की वजह से इंग्लैंड में 1 जुलाई तक सभी खेल प्रतियोगिताएं बंद हैं। वैसे इंग्लैंड के खिलाड़ियों ने वेस्टइंडीज सीरीज के मद्देनजर व्यक्तिगत अभ्यास शुरू कर दिया है। बता दें सिर्फ वेस्टइंडीज ही नहीं पाकिस्तान क्रिकेट टीम भी इंग्लैंड दौरे के लिए तैयार हो चुकी है। इन दोनों टीमों के बीच 5 अगस्त से तीन मैचों की टेस्ट सीरीज खेली जाएगी।