भोपाल । झमाझम बरसात के साथ आज रविवार को मानसून राजधानी में भी प्रवेश कर सकता है। कल शाम को राजधानी में 30 किलोमीटर प्रतिघंटा की रफ्तार से तेज हवाएं चलीं। इससे कई पेड़ गिर गए। प्रदेश में दक्षिण-पश्चिम मानसून के सक्रिय होने से भोपाल, जबलपुर, होशंगाबाद, सागर संभाग के जिलों में अच्छी बरसात का सिलसिला शुरू हो गया है। इसी क्रम में शनिवार सुबह साढ़े आठ बजे से शाम साढ़े पांच बजे तक छिंदवाड़ा में 43, पचमढ़ी में 31, होशंगाबाद में 14, भोपाल में 3.2, सागर में 2.0, भोपाल (शहर) में 1.5 मिलीमीटर बरसात हुई।  मौसम विज्ञान केंद्र से मिली जानकारी के मुताबिक शनिवार को राजधानी का अधिकतम तापमान 36.9 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया, जो सामान्य से दो डिग्री कम रहा। न्यूनतम तापमान 21.8 डिग्री सेल्‍सियस रिकार्ड किया गया। यह सामान्य से पांच डिग्रीसे. कम रहा। शहर में सुबह से ही आसमान पर बादल छाए हुए थे। दोपहर के समय बादल छंटने से धूप निकली। इससे वातावरण में उमस बढ़ गई थी। शाम को अचानक तेज हवाएं चलने के साथ कहीं-कहीं बौछारें पड़ीं। इससे मौसम खुशगवार हो गया। उधर, केरल से महाराष्ट्र तक एक अपतटीय ट्रफ बना हुआ है। एक ट्रफ पंजाब से बंगाल की खाड़ी तक बना हुआ है। अरब सागर में एक ऊपरी हवा का चक्रवात बना हुआ है। दक्षिणी उत्तरप्रदेश पर भी एक ऊपरी हवा का चक्रवात बना हुआ है। इन सिस्टम के कारण मानसून सक्रिय बना हुआ है। शुक्ला के मुताबिक रविवार को भोपाल, होशंगाबाद, सागर, जबलपुर, शहडोल संभाग में तेज बौछारें पड़ने की संभावना है।मौसम विज्ञान केंद्र के पूर्व वरिष्ठ मौसम विज्ञानी अजय शुक्ला ने बताया कि दक्षिण-पश्चिम मानसून शनिवार को बंगाल की खाड़ी, पश्चिम बंगाल, ओडिशा में आगे बढ़ा है। बंगाल की खाड़ी में एक कम दबाव का क्षेत्र बना हुआ है। इस सिस्टम के रविवार को गहरे कम दबाव के क्षेत्र में तब्दील होकर आगे बढ़ने की संभावना है। इसके प्रभाव से पूर्वी मप्र में झमाझम बारिश का दौर शुरू होने के आसार हैं।