लंदन  । दुनियाभर में तेजी से फैल रहे कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकने के लिए कई देश वैक्सीन बनाने की कोशिश कर रहे हैं। कोरोना वायरस वैक्सीन बना रहे सभी प्रमुख उम्मीदवारों में ऑक्सफर्ड यूनिवर्सिटी और एस्‍ट्राजेनेका सबसे प्रबल दावेदार है। ब्रिटेन और भारत समेत दुनिया के कई देशों में इस वैक्सीन का क्लिनिकल ट्रायल किया जा रहा है। इस बीच ब्रिटेन के एक वरिष्ठ स्वास्थ्य अधिकारी ने वैक्सीन की तैयारी और इसकी लांच की तिथि का खुलासा किया है। ब्रिटेन के एक विशेषज्ञ ने संकेत दिया है कि देश में कोविड-19 का टीका इस्तेमाल के लिए नए साल की शुरुआत में तैयार हो जाएगा। इंग्लैंड के उप प्रमुख चिकित्सा अधिकारी एवं कोरोना वायरस वैश्विक महामारी को लेकर सरकार के सलाहकारों में शामिल जोनाथन वान टाम ने बताया कि ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी में एस्‍ट्राजेनेका द्वारा बनाया जा रहा टीका दिसंबर में क्रिसमस के बाद इस्तेमाल के लिए तैयार हो सकता है।
भारत में इसका सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया के साथ करार है। वान टाम ने सांसदों को बताया कि हम टीके के बेहद नजदीक पहुंच गए हैं। एक सांसद ने बताया कि चिकित्सा विशेषज्ञ एस्ट्राजेनेका के तीसरे चरण के परिणाम को लेकर बहुत आशावान हैं। उन्हें इसके परिणाम इस महीने या अगले महीने के अंत तक आ जाने की उम्मीद है। वान टाम का बयान ऐसे समय में आया है, जब ब्रिटेन सरकार ने शुक्रवार को नया कानून पेश किया है, जिसमें कोविड-19 के संभावित टीके को लगाने की बड़ी संख्या में स्वास्थ्य कर्मियों को अनुमति दी गई है।