अलवर । अलवर जिले में एक शख्स ने 18 नवंबर को अपने दोस्त की पत्नी के साथ दुष्कर्म कर उसकी हत्या कर दी थी और बीमारी का बहाना बना ‎दिया था। इस बात का खुलासा मृतकी की चार साल की बेटी ने ‎किया है। दरअसल, दाह संस्कार प्रक्रिया के बीच मृतका की चार साल की बच्ची ने घरवालों से बातचीत के दौरान बताया कि महावीर अंकल ने ही मम्मी को मारा है और उन्होंने कपड़े भी उतार रखे थे। बच्चे के मुंह से यह बात सुनते ही घरवालों ने तुरंत पुलिस को सूचित करने के बाद दाह संस्कार रुकवाया। इसके तुरंत बाद ग्रामीणों ने आरोपी को पकड़कर पुलिस के सुपुर्द कर दिया। वहीं पुलिस ने दुष्कर्म के साथ हत्या के मामले में ज़ीरो एफआईआर दर्ज कर जयपुर जिला पुलिस को भेज दी। पुलिस ने मृतका का मेडिकल बोर्ड से पोस्टमार्टम करवाकर शव परिजनों को सौंप दिया है। बताया गया ‎कि मृतका का एक 12 साल का बेटा और 4 साल की बेटी है। आरोपी और मृतका के पति दोनों बिजनेस पार्टनर है। पति किसी काम के सिलसिले में भिवाड़ी गया था। इस दौरान आरोपी ने मृतका के पति को फोन कर बताया कि वह शव को दाह संस्कार के लिए उसके पैतृक गांव अलवर के शाहजहांपुर स्थित बेलनी गांव ले आया है। घरवालों से बातचीत के दौरान बच्चों ने बताया कि महावीर अंकल आए और उसे जबरदस्ती ट्यूशन पढ़ने भेज दिया। जब मां मना करने लगी तो ट्यूशन वाले टीचर को फोन कर हम दोनों को भेज दिया। शाहजहांपुर थाना प्रभारी सुनील जांगिड़ ने बताया कि बेलनी निवासी एक व्यक्ति ने मामला दर्ज कराया कि वह डेढ़ साल से जयपुर के खो नागोरियान में परिवार के साथ रहकर ट्रांसपोर्ट का व्यापार कर रहा था। जयपुर का गोनेर रोड शंकर विहार निवासी महावीर सिंह गुर्जर इस व्यापार में उसका पार्टनर था। पुलिस ने कहा ‎कि पीड़ित पति मुहाना मंडी से सब्जी भरकर भिवाड़ी के 17 नवंबर को खाना खाकर निकल गया। अगले दिन सुबह करीब 8.30 बजे उसकी पत्नी से बात भी हुई थी; लेकिन उसे कहाँ पता था जब दोपहर करीब 12 बजे महावीर गुर्जर का फोन आएगा तो एक बुरी खबर भी साथ आएगी।  आरोपी ने फोन पर बताया कि तुम्हारी पत्नी की बीमारी के कारण मौत हो गई है। शव को दाह संस्कार के लिए बेलनी ले आया हूं। पीड़ित ने आरोप लगाया कि महावीर ने पत्नी के साथ दुष्कर्म के बाद गला दबाकर उसकी हत्या कर दी। ‎फिलहाल पु‎लिस ने आरोपी को ‎गिरफ्तार कर जेल भेज ‎दिया।