नई दिल्ली । 26 जनवरी के दिन दिल्ली में किसान आंदोलन के दौरान हुई हिंसा पर भाजपा पर राज्यसभा सांसद सुब्रमण्यम स्वामी ने बड़ा बयान दिया है। उन्होंने कहा कि घटना से पीएम मोदी और गृह मंत्री अमित शाह की छवि को नुकसान पहुंचा है। उन्होंने कहा कि घटना से देश की छवि को भी नुकसान पहुंचा है।स्वामी ने कहा कि सुरक्षा की दृष्टि से बड़ी चूक हुई है। हो सकता है कि चीन मार्च से मई के दौरान भारत में बड़ी साजिश को अंजाम दे। उन्होंने घटना को लेकर पीएम मोदी को चिट्टी भी लिखी है। इसके अलावा, उन्होंने पंजाब की अमरिंदर सरकार पर हमला किया। 
स्वामी ने घटना पर ट्वीट करते हुए शक जताया कि लाल किले पर जो बवाल हुआ, उसमें पीएमओ के करीबी भाजपा नेता का हाथ रहा है। उन्होंने कहा कि एक गूंज चल रही है, शायद झूठी हो सकती है या दुश्मनों की झूठी आईडी से चल रही है कि पीएमओ के करीबी भाजपा के सदस्य ने लाल किले में चल रहे ड्रामे में भड़काऊ व्यक्ति के तौर पर काम किया। चेक कर के जानकारी दें। इतना ही नहीं स्वामी ने अपने अगले ही ट्वीट में किसान आंदोलन में शामिल रहे दीप सिद्धू से जुड़े एक ट्वीट को रिट्वीट भी किया। इसमें कहा गया था कि लाल किले की हिंसा में आरोपी दीप सिद्धू भाजपा सांसद सनी देओल का कैंपेन मैनेजर रह चुका है।
26 जनवरी को किसानों की ट्रैक्टर रैली के दौरान मुकरबा चौक, ट्रांसपोर्ट नगर, आईटीओ और अक्षरधाम सहित अन्य स्थानों पर हुए टकराव के बीच किसानों का एक जत्था लाल किला परिसर में पहुंचकर किसानों का झंडा लहरा दिया है। आईटीओ पर टकराव के दौरान बड़ी संख्या में किसानों ने लाल किला परिसर में घुसकर अपना झंडा लहराया दिया। पंद्रह अगस्त को जिस स्थान पर झंडा फहराया जाता है उसके पास ही किसानों ने अपना झंडा लगा दिया।