नई दिल्ली,देश के सबसे बड़े बैंक भारतीय स्टेट बैंक (SBI) ने मंगलवार को अपने ग्राहकों को बड़ा तोहफा दिया है। बैंक ने MCLR आधारित ब्याज दर में 0.35% कटौती करने की घोषणा की। साथ ही, बैंक ने बचत खाता जमा पर भी ब्याज दर को 0.25 प्रतिशत घटाकर 2.75 प्रतिशत कर दिया है। नई दरें 10 अप्रैल से लागू होंगी।

बैंक ने एक बयान में कहा कि एमसीएलआर में कटौती के बाद एक वर्ष की अवधि के ऋण पर ब्याज दर 7.75 प्रतिशत से घटकर 7.40 प्रतिशत वार्षिक हो जाएगी।अधिकांश खुदरा ऋणों के लिए एक वर्ष की अवधि के कर्ज पर दर को पैमाना माना जाता है। भारतीय रिजर्व बैंक ने बीते दिनों रीपो रेट में बड़ी कटौती की थी, जिसके बाद कई सरकारी बैंक अपनी ब्याज दरों में कटौती कर चुके हैं।

एक लाख की ईएमआई पर 24 रुपये की बचत
बैंक ने कहा कि इससे 30 वर्ष की अवधि वाले आवास ऋण की मासिक किस्त प्रति एक लाख रुपये कर्ज पर 24 रुपये कम हो जाएगी। इसी के साथ बैंक ने बचत खातों की जमा पर ब्याज दर को 0.25 प्रतिशत घटाकर 2.75 प्रतिशत करने की भी घोषणा की।

केनरा बैंक ने भी घटाई ब्याज दरें
केनरा बैंक ने सोमवार को सिंडिकेट बैंक के लिए सभी अवधि के कर्ज के लिए कोष की सीमांत लागत आधारित ब्याज दर (एमसीएलआर) घटा दी है। नई दरें मंगलवार से प्रभावी होंगी। सिंडिकेट बैंक का विलय केनरा बैंक में हुआ है। सार्वजनिक क्षेत्र के बैंक ने एक साल की अवधि वाले कर्ज के लिए 0.35 प्रतिशत, छह महीने की अवधि वाले कर्ज के लिए 0.30 प्रतिशत, तीन महीने की अवधि के लिए 0.2 प्रतिशत और एक महीने तथा एक दिन के लिए ब्याज दर में 0.15 प्रतिशत की कटौती की है।