कम स्कोर वाले मैच में टीम इंडिया की दिशाहीन गेंदबाजी और धीमी गति से बल्लेबाजी ने भारत को 5वीं बार अंडर 19 वर्ल्ड कप का चैम्पियन बनने से रोक दिया. लेकिन मैच के तुरंत बाद मैदान पर जो हुआ वो हैरान कर देने वाला था. यहां जीत के साथ बांग्लादेशी खिलाड़ियों ने टीम इंडिया के खिलाड़ियों के साथ बदसलूकी की.

क्रिकेट को एक जेंटल मैन खेल माना जाता है, लेकिन कभी-कभी इसकी सूरत बदल जाती है और यह बदसूरत भी हो जाता है. U19 विश्व कप के फाइनल में भी क्रिकेट का एक बदसूरत चेहरा देखने को मिला. दरअसल, फाइनल मुकाबले में भारत पार बांग्लादेश की ऐतिहासिक जीत के बाद बांग्लादेशी खिलाड़ियों ने भारतीय खिलाड़ियों के साथ गलत व्यवहार किया.

जीत के बाद खुशी मनाते मैदान पर पहुंचे बांग्लादेशी खिलाड़ियों में से एक खिलाड़ी मैदान पर मौजूद भारतीय खिलाड़ी के पास पहुंचा और अड़कर उसके सामने खड़ा हो गया, यही नहीं बांग्लादेशी खिलाड़ी ने कुछ भड़काऊ बात भी कही. जिसके बाद सामने खड़े भारतीय खिलाड़ी ने उसे हाथ से दूर हटाया.

इसके बाद मैदान पर मौजूद अंपायर ने दोनों खिलाड़ियों को एक दूसरे से दूर किया. बांग्लादेशी खिलाड़ियों ने इस मैच में कई बार भारतीय खिलाड़ियों के सामने स्लेजिंग की, यानी अनर्गल बातें भी कहीं. इस बात को स्वीकारते हुए बांग्लादेशी टीम के कप्तान अकबर ने पोस्ट मैच प्रेजेंटेशन के दौरान कहा कि उनके कई खिलाड़ियों ने मैच के दौरान भारतीय खिलाड़ियों के प्रति आक्रामक बॉडी लैंग्वेज दिखाया.

मैच में क्या हुआ?

गेंदबाजों के बेहतरीन प्रदर्शन के बाद अकबर अली की कप्तानी पारी से बांग्लादेश ने कम स्कोर वाले आईसीसी अंडर-19 क्रिकेट विश्व कप फाइनल में भारत को 3 विकेट से हराकर पहली बार खिताब पर कब्जा किया. भारत ने पहले बल्लेबाजी करते हुए बांग्लादेश का सामने 178 रन का लक्ष्य रखा. इस लक्ष्य का पीछा करते हुए बांग्लादेश ने जब 41 ओवर में 7 विकेट पर 163 रन बना लिए थे तब बारिश के कारण खेल रोकना पड़ा.

मैच दोबारा शुरू होने पर बांग्लादेश को 46 ओवर में 170 रन का लक्ष्य मिला जो उसने 42.1 ओवर में सात विकेट पर 170 रन बनाकर हासिल कर लिया. बांग्लादेशी कप्तान अकबर ने 77 गेंद में 4 चौकों और 1 छक्के से नाबाद 43 रन की पारी खेली. भारत को कम स्कोर वाले मैच में दिशाहीन गेंदबाजी का खामियाजा भी भुगतना पड़ा. टीम इंडिया ने 33 रन अतिरिक्त दिए जिससे बांग्लादेश के लिए जीत के रास्ते को और आसान बना दिया.
चार बार की चैम्पियन टीम इंडिया की ओर से लेग स्पिनर रवि बिश्नोई ने 30 रन देकर 4 विकेट चटकाए लेकिन अपनी टीम को जीत नहीं दिला सके. सुशांत मिश्रा ने भी 25 रन देकर दो विकट चटकाए. भारती बल्लेबाज जायसवाल ने 121 गेंद में 88 रनों की पारी खेली. लेकिन उनकी पारी हार के साथ ही बेकार चली गई.