ब्रिस्‍बेन । महान क्रिकेटर शेन वॉर्न के अनुसार भारत की युवा टीम से टेस्ट सीरीज में मिली करारी हार के बाद ऑस्ट्रेलियाई टीम में बड़े बदलाव होने तय है। भारतीय टीम ने अपने अनुभवी खिलाड़ियों के बिना ही मेजबान टीम को सीरीज 2-1 से हराकर बॉर्डर-गावस्कर ट्रॉफी अपने पास बरकरार रखी है। वॉर्न के अनुसार इस हार का बड़ा प्रभाव पड़ेगा क्योंकि आमतौर पर ऐसा नहीं होता है जब आप दूसरे या तीसरे विकल्प वाली टीम से हार गए हो। ऐसे में ऑस्ट्रेलियाई टीम  की रणनीति पर सवाल उठने तय हैं। यहां तक कि गेंदबाजों पर भी सवाल उठेंगे। इसके साथ ही खिलाड़ियों के टीम में स्थान पर भी सवाल उठाए जाएंगे। ऐसा होना भी चाहिए, आप इसने बच भी नहीं सकते और न ही इन्हें हटाकर कह सकते हो कि भारत हमसे काफी अच्छी टीम थी। वॉर्न ने हालांकि भारतीय टीम की तारीफ करते हुए कहा कि उसने अपने खिलाड़ियों के चोटिल होने और नियमित कप्तान विराट कोहली की अनुपस्थिति में भी शानदार प्रदर्शन कर अपनी क्षमताएं साबित की हैं। 
उन्होंने कहा कि जो भारतीय खिलाड़ी खेले, उनसे उनका श्रेय नहीं छीना जा सकता, क्योंकि उनकी पहली चयनित टीम में से शायद दो या तीन खिलाड़ी ही ऐसे थे जो उस टीम में खेल रहे थे। इस सीरीज में हमारी टीम अवसरों का लाभ नहीं उठा पायी जबकि उसे भी पर्याप्त अवसर मिले थे। इसके साथ ही वार्न ने कप्तान टिम पेन की रणनीति की आलोचना करते हुए कहा है कि वह अपनी जिम्मेदारी से भाग नहीं सकते हैं।