मुंबई । कोरोनावायरस महामारी के चलते पूरी दुनिया रूक सी गई है और हर कोई इससे प्रभावित है। इस बारे में अभिनेत्री यामी गौतम ने कहा कि उन्हें नहीं पता कि फिल्मों की शूटिंग फिर से कब शुरू होगी क्योंकि लॉकडाउन के हटने के बाद भी ऐसा नहीं लगता है कि कोविड-19 का अंत हो जाएगा। महामारी के बाद वह मनोरंजन उद्योग के भविष्य को किस तरह से देखती हैं और इंडस्ट्री में बदलाव किस तरीके से आने वाला है? यामी ने आगे कहा कि "बजट पर दोबारा काम किया जाएगा। पहले से ही प्रस्तावित फिल्मों के बजट और माध्यमों पर काम किया जा रहा है क्योंकि थिएटर्स बंद हैं और ये कब खुलेंगे इसका भी कुछ अता-पता नहीं है। बेशक जिन फिल्मों का बजट मध्यम रहा है, उनके पास डिजिटल प्लेटफॉर्म्स पर अपनी फिल्मों को रिलीज करने का एक मौका है।" बता दें कि उन्हें इस वक्त केवल डिजिटल क्षेत्र के लिए बनी परियोजनाओं के ही ऑफर मिल रहे हैं। उन्होंने कहा कि "मेरे पास फिल्में इस प्रस्ताव के साथ आ रही हैं कि ये डिजिटल प्लेटफॉर्म के लिए ही हैं। यह बदलाव अभी से देखने को मिल रहा है। हमें नहीं पता कि हम शूटिंग कब शुरू करेंगे क्योंकि लॉकडाउन के हटाए जाने के बाद भी यह नहीं लगता कि कोरोनावायरस पर काबू पा लिया जाएगा।" उन्होंने आगे कहा कि नए दिशा-निर्देश व प्रतिबंध लागू हो सकते हैं। हमें अभी भी प्रोटोकॉल्स, सावधानियां और नए दिशा-निदेशरें का पालन करना होगा। हमें फिलहाल बस रूककर इंतजार करना है। सुरक्षा सबसे महत्वपूर्ण चीज है। मुझे नहीं लगता कि चीजें जल्द ही स्वाभाविक होंगी।" वहीं, बजट को लेकर यामि ने कहा कि "विश्व स्तर पर अर्थव्यवस्था पर आए प्रभाव को देखते हुए निश्चित रूप से बजट पर काम किया जा रहा है और इनमें कमी लाई जाएगी। विषय सामग्री की बात करें, तो मैं उम्मीद कर सकती हूं कि लोग इस खाली वक्त का सदुपयोग फिल्मों के लिए अच्छी व नई विचारधारा की कहानियों को लिखने में कर रहे हैं। उम्मीद करती हूं कि इस क्षेत्र में आगे आने वाले समय में हम और सशक्त बनेंगे।"